vindhyabachao logo

खनन माफियाओं ने वन विभाग की टीम पर बोला हमला, दो वॉचर घायल


अवैध खनन की शिकायत पर टीम गई थी छापेमारी करने, चार के खिलाफ तहरीर

जागरण संवाददाता, मीरजापुर : विन्ध्यांचल थाना क्षेत्र के महुवारी कला गांव के जंगल में अवैध खनन कर रहे खनन माफियाओं पर कार्रवाई करने गई वन विभाग की टीम पर बुधवार की देर रात खनन माफियाओं ने हमला कर दिया। हमले में दो वाचर घायल हो गए। किसी तरह जान बचाकर भागी टीम ने मामले से रेंजर को अवगत कराया। जानकारी होने पर रेंजर पीके सिंह मौके पर पहुंचे तो हमलावर वहां से फरार हो गए। उन्होंने विन्ध्यांचल थाने पहुंचकर चार लोगों के खिलाफ थाने में तहरीर दी।
लालगंज रेंज के रेंजर पीके सिंह को सूचना मिली कि विन्ध्यांचल के महुवारी कला गांव के जंगल में कुछ लोग काफी दिनों से अवैध खनन कर रहे हैं। जानकारी होते ही रेंजर पीके सिंह के नेतृत्व में एक टीम खनन कर रहे लोगों के खिलाफ कार्रवाई करने पहुंचे। खनन स्थल पर टीम के पहुंचने की जानकारी होते ही खनन माफिया वहां से फरार हो गए। टीम ने निकाले गए पटिया को तोड़कर नष्ट कर दिया। लौटते समय अवैध खनन कर रहे लोगों ने बीच रास्ते में टीम को रोककर हमला बोल दिया। छापेमारी में शामिल दो वाचर पप्पू व कलेंदर को मारपीट कर घायल कर दिया। रेंजर पीके सिंह पहुंच गए। विभाग की फोर्स को देखकर हमलावर वहां से फरार हो गए। रेंजर ने विन्ध्यांचल थाने पहुंचकर चार लोगों के खिलाफ सरकारी कार्य में बाधा पहुंचाने, टीम को मारपीट कर घायल करने समेत अन्य आरोप में तहरीर दी।

स्रोत : https://www.jagran.com/uttar-pradesh/mirzapur-mining-mafia-attacked-forest-department-team-two-watchers-injured-19775082.html  


खनन पट्टा प्रस्तावों पर लोक सुनवाई

जागरण संवाददाता, चुनार (मीरजापुर) : चुनार तहसील स्थित सभागार में बुधवार को एडीएम यूपी सिंह की अध्यक्षता में छह कंपनियों के खनिज पट्टा प्रस्तावों पर लोक सुनवाई की कार्रवाई की गई। इस दौरान मेसर्स पैन जुरेक्स एलएलपी ग्राम भईली, मेसर्स खाकी बाबा कंस्ट्रक्शन कंपनी भगौती देई व ग्राम सिंधोरा, मेसर्स यूफोरिया माईस एंड मिनरल ग्राम भुइली की मेसर्स आरके कंस्ट्रक्शन कंपनी ग्राम सोनपुर के कंसल्टेंटों ने कंपनी के बारे में विस्तार से जानकारी दी।
लोक सुनवाई के लिए तीन बजे का समय दिया गया था जो एडीएम के आने के बाद चार बजे के बाद प्रारंभ हो सकी। इस दौरान क्षेत्रीय कार्यालय उत्तर प्रदेश प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के सहायक वैज्ञानिक अधिकारी डा. एसपी शुक्ला ने कार्रवाई का संचालन करते हुए उपस्थित लोगों से आपत्तियां आमंत्रित की। कार्रवाई के दौरान भगौतीदेई के पूर्व प्रधान रामसमुझ पटेल ने कहा क्षेत्र में पूर्व में लगे क्रशर प्लांटों से गांव में प्रदूषण फैल रहा है। खनिज ढुलाई के समय मालिकों द्वारा निर्धारित मानकों का पालन नहीं किया जाता।

# उन्होंने और खानिज पट्टे दिए जाने पर क्षेत्र के भूगर्भ जल स्तर के नीचे जाने के संकट पर भी चिंता व्यक्त की। पर्यावरण विद बरेवां ग्राम निवासी प्रदीप कुमार शुक्ल ने आपत्ति जताते हुए कंपनियों के कंसल्टेंटों द्वारा प्रस्तुत आंकड़ों को संदेहास्पद बताते हुए उन्हें सिरे से खारिज करते हुए प्रस्तुत आंकड़ों की पुन: जांच की बात कही।

पूरी कार्रवाई को हास्यापद बताते हुए कहा कि लोक सुनवाई का व्यापक प्रचार-प्रसार न करने से संबंधित क्षेत्रों के नागरिक अपनी आपत्तियां दर्ज कराने को यहां नहीं पहुंच पाए हैं, अत: इसके लिए पुन: कोई तिथि निर्धारित की जाए। लोक सुनवाई कार्रवाई के दौरान पूरी कार्रवाई की वीडीओ ग्राफी की जाती है जो लोक सुनवाई का पाब्र्ट होती है। परंतु इस दौरान जब लोगों द्वारा अपनी आपत्तियां दर्ज कराई जाने लगे तो उसकी वीडीओ ग्राफी वीडीओ ग्राफर द्वारा नहीं की गई, जो एक संदेहाष्पद कृत्य था। इस दौरान एसडीएम चुनार जंगबहादुर यादव, खनन विभाग के ड्राफ्टमैन राधेश्याम, कंपनियों के मालिक, उनके कंसल्टेंट, राजेंद्र प्रसाद मिश्र आदि उपस्थित रहे।

 

स्रोत : https://www.jagran.com/uttar-pradesh/mirzapur-public-hearing-on-six-mining-lease-proposals-19775078.html  

Tags: Dainik Jagran, mining, Pollution

Visitor Count

Today713
Yesterday519
This week3246
This month4463

1
Online