Vindhyan Ecology and Natural History Foundation- Website header image

We are a voluntary organization working for the protection of critical ecosystems in Mirzapur region of Uttar Pradesh using scientific research, policy advocacy, and strategic litigation. To donate online click here


vindhyabachao logo

News Board

IMAGE मगरमच्छ घुसा घर में, मचा हड़कंप- दैनिक जागरण
Sunday, 21 July 2019
जासं, ड्रमंडगंज (मीरजापुर) : हलिया वन रेंज के बडौहां गांव निवासी... Read More...
IMAGE कुत्ते के हमले से हिरण की गई जान- दैनिक जागरण
Wednesday, 10 July 2019
हलिया रेंज के बंरया गांव में जंगल से भटककर बुधवार को गांव में... Read More...
IMAGE नदी से भटककर आबादी में पहुंचा विशालकाय मगरमच्छ; ग्रामीणों ने लाठी-डंडे से पाया काबू
Tuesday, 09 July 2019
अदवा नदी से भटककर विशालकाय मगरमच्छ सोमवार रात हलिया थाना... Read More...
IMAGE मगरमच्छ ने घर में दी दस्‍तक तो अपना ही घर छोडकर लोग हो गए फरार- दैनिक जागरण
Tuesday, 02 July 2019
ड्रमंडगंज में हलिया वन रेंज के सिलहटा में बुधवार की सुबह करीब... Read More...
IMAGE बाण सागर नहर में घड़रोज की मौत- दैनिक जागरण
Thursday, 20 June 2019
हलिया वन्य सेंचुरी क्षेत्र में नदी नालों के सूखने के कारण आए... Read More...

Saving the Sloth Bears of Mirzapur


फोटो-मृत-मगरमच्छ-मिर्जापुर-जागरण

मीरजापुर (मड़िहान) । स्थानीय थाना क्षेत्र के रजौहां गांव के कुछ अराजक तत्वों नें लाठी डंडे से पीट -पीटकर एक मगरमच्छ को मार डाला। मौत के बाद किसी को इसकी भनक भी न लगे इसलिए इसको गांव के किनारे एक तालाब के नीचे बांधकर खींचते हुए ले जाया गया हालांकि जिस रास्ते से मगरमच्छ को खींचकर ले जाया गया है वहां पर उसके निशान पाए गए हैं। हालांकि इससे पूर्व भी बरसात के बाद से कई इलाकों में मगर दिखाई पड़ने से लोगों में हड़कंप की स्थित रही है। लिहाजा अंदेशा है कि ग्रामीणों ने सुरक्षा कारणों से उसकी पीट कर हत्‍या की है।

Photo-dead-mugger-mirzapur-jagran

अभी दो दिन पूर्व गंगापुर गांव में राजेश सिंह के तालाब में मगरमच्छ दिखाई दिया था। लोगों को आशंका है कि कहीं वही मगरमच्छ तो नही है जो भटकते हुए यहां आ पहुंचा। मामले की जानकारी होते ही चौकी इंचार्ज पटेहरा राम बदन यादव मय फोर्स सोमवार की देर रात ही जा पहुंचे। जिसके बाद उन्होंने वन विभाग को सूचना दी हालांकि मौके पर अभी तक वन विभाग की टीम मौके पर नहीं पहुंच सकी थी। वन्य जीव संरक्षण के तहत 7 साल या इससे अधिक की सजा का प्रावधान है। इस संबंध में वन क्षेत्राधिकारी संजय कुमार ने बताया कि पोस्टमार्टम कराने के बाद जिन लोगों ने मगरमच्छ को मारा है उसे खिलाफ एफआइआर दर्ज कराई जाएगी और किसी को बख्शा नहीं जाएगा ।

स्रोत- https://www.jagran.com/uttar-pradesh/varanasi-city-people-killed-crocodile-in-mirzapur-uttar-pradesh-18515427.html 

Tags: Man Animal Conflict, Crocodile

Visitor Count

Today61
Yesterday505
This week566
This month11458

1
Online